Motivational Shayari

Bhagat Singh quotes || Bhagat Singh quotes in Hindi

Bhagat Singh Quotes in Hindi – आज हम आप अभी के लिए एक महान व्यक्ति के बारे मे बताएँगे जिनका नाम हैं भगत सिंह अगर आप इनके बारे नही जानते हैं इस article को जरूर पढे ओर इनसे जुड़े कुछ महत्वपूर्ण Bhagat Singh quotes से कुछ शिखे । 

चीजों को परिप्रेक्ष्य में रखने के लिए, भगत सिंह केवल 23 साल की उम्र में शहीद हो गए, 1931,16 साल पहले भारत ने अंततः ब्रिटिश शासन से अपनी स्वतंत्रता जीती। इतनी कम उम्र में मरने के लिए, हमारी आजादी पर मुहर लगने से इतने साल पहले, उन्होंने उन वर्षों में काफी कुछ किया होगा जो सही मायने में भारत के अब तक के सबसे महान स्वतंत्रता सेनानी के रूप में जाने के लिए जीवित थे। यदि आप उनके बारे में पहले से नहीं जानते हैं, तो उनके बारे में पढ़ें लेकिन यहां Bhagat Singh quotes in hindi हैं जो स्वतंत्रता की उनकी खोज के पीछे के अभियान और प्रेरणा की व्याख्या करते हैं

Bhagat Singh quotes in hindi28 सितंबर, 1907 को किशन सिंह और विद्यावती के घर जन्मे भगत सिंह को उनके असाधारण साहस और वीरता के लिए याद किया जाता है। बलवंत, रंजीत और विद्रोही के रूप में व्यापक रूप से जाने जाते थे वह अपनी बहादुरी और असाधारण देशभक्ति के लिए बाहर खड़े थे।

23 मार्च को तीन स्वतंत्रता सेनानियों – भगत सिंह, शिवराम राजगुरु और सुखदेव थापर द्वारा ब्रिटिश औपनिवेशिक शासन से भारत की स्वतंत्रता में उनके योगदान के लिए किए गए बलिदान को याद करने के लिए शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह वह था जिसने स्वतंत्रता पूर्व युग के दौरान ‘इंकलाब जिंदाबाद’ (लंबी जीवित क्रांति) वाक्यांश को लोकप्रिय बनाया था।

शहीद भगत सिंह द्वारा शीर्ष सर्वश्रेष्ठ प्रेरणादायक और शक्तिशाली Quotes जो सभी को प्रेरित करें। शहीद भगत सिंह ईश्वर, छात्र, धर्म, नास्तिक, राजनीति, सरकार, देश और अन्य पर प्रेरक और प्रेरक उद्धरण।

भगत सिंह के उद्धरण हर व्यक्ति के लिए प्रेरणा लेकर आएंगे। वह भारत के एक महान देशभक्त थे और भारत के लिए लड़े थे। हम सभी इस महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानी को जानते हैं,  ये उद्धरण एक स्वतंत्रता सेनानी, भगत सिंह की मजबूत ताकत को दिखाएंगे। यह निश्चित रूप से आपके भीतर शक्ति की शक्ति लाएगा।

इसलिए, यदि आप वास्तव में खुद को और अधिक मजबूत और शक्तिशाली बनाना चाहते हैं तो आपको इन “Bhagat Singh Quotes” को अवश्य पढ़ना चाहिए। इससे आपको बहुत मदद मिलेगी।

भगत सिंह को ब्रिटिश औपनिवेशिक शासकों ने 23 साल की उम्र में फांसी पर लटका दिया था। शहीद भगत सिंह के रूप में संदर्भित स्वतंत्रता सेनानी, अपने साहस से पीढ़ियों से भारतीयों को प्रेरित करते हैं। भगत सिंह का जन्म 28 सितंबर, 1907 को पंजाब प्रांत में हुआ था, जो अब पाकिस्तान में है।

ब्रिटिश प्रशासकों ने स्वतंत्रता सेनानी तिकड़ी – भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव – को उनकी बहादुरी के लिए डरा दिया। उन्हें ब्रिटिश पुलिस अधिकारी जॉन सॉन्डर्स की हत्या के लिए लाहौर साजिश के मामले में मौत की सजा सुनाई गई थी।

Bhagat Singh quotes

 

देशभक्तों को अक्सर लोग पागल कहते हैं।

 

क्या तुम्हें पता है कि दुनिया में सबसे बड़ा पाप गरीब होना है।
गरीबी एक अभिशाप है, यह एक सजा है।

 

जन संघर्ष के लिए, अहिंसा आवश्यक हैं।

 

जिंदगी तो सिर्फ अपने कंधों पर जी जाती है,
दूसरों के कंधे पर तो सिर्फ जनाजे उठाए जाते हैं।“ ~ भगत सिंह

 

“मेरा धर्म देश की सेवा करना है।”~ भगत सिंह

 

प्रेमी, पागल और कवि एक ही चीज से बने होते हैं।“ ~ भगत सिंह

 

“देशभक्तों को अक्सर लोग पागल कहते हैं।“ ~ भगत सिंह

 

“सूर्य विश्व में हर किसी देश पर उज्ज्वल हो कर गुजरता है
परन्तु उस समय ऐसा कोई देश नहीं होगा जो भारत देश के
सामान इतना स्वतंत्र, इतना खुशहाल, इतना प्यारा हो।” ~ भगत सिंह

 

“यह एक काल्पनिक आदर्श है कि आप किसी भी कीमत पर अपने बल का प्रयोग नहीं करते,
नया आन्दोलन जो हमारे देश में आरम्भ हुआ है और जिसकी शुरुवात की हम चेतावनी दे चुके हैं
वह गुरुगोविंद सिंह और शिवाजी महाराज, कमल पाशा और राजा खान,
वाशिंगटन और गैरीबाल्डी, लाफयेत्टे और लेनिन के आदर्शों से प्रेरित है।”~ भगत सिंह

 

“मनुष्य/इन्सान तभी कुछ करता है जब उसे अपने कार्य का उचित होना सुनिश्चित होता है,
जैसा की हम विधान सभा में बम गिराते समय थे।
जो मनुष्य इस शब्द का उपयोग या दुरुपयोग करते हैं
उनके लाभ के हिसाब के अनुसार इसे अलग-अलग अर्थ और व्याख्या दिए जाते हैं।”~ भगत सिंह

 

“राख का हर एक कण मेरी गर्मी से गतिमान है।
मैं एक ऐसा पागल हूं जो जेल में भी आजाद है।“ ~ भगत सिंह

 

“यदि बहरों को सुनना है तो आवाज़ को बहुत जोरदार होना होगा।
जब हमने बम गिराया तो हमारा धेय्य किसी को मारना नहीं थ।
हमने अंग्रेजी हुकूमत पर बम गिराया था ।
अंग्रेजों को भारत छोड़ना चाहिए और उसे आज़ाद करना चहिये।” ~ भगत सिंह

 

“किसी को ‘क्रांति’ शब्द की व्याख्या शाब्दिक अर्थ में नहीं करनी चाहिए।
जो लोग इस शब्द का उपयोग या दुरूपयोग करते हैं
उनके फायदे के हिसाब से इसे अलग अलग अर्थ और अभिप्राय दिए जाते हैं।”~ भगत सिंह

 

“कोई भी व्यक्ति जो जीवन में आगे बढ़ने के लिए तैयार खड़ा हो
उसे हर एक रूढ़िवादी चीज की आलोचना करनी होगी,
उसमे अविश्वास करना होगा और चुनौती भी देना होगा।” ~ भगत सिंह

 

“किसी भी इंसान को मारना आसान है,
परन्तु उसके विचारों को नहीं।
महान साम्राज्य टूट जाते हैं,
तबाह हो जाते हैं,
जबकि उनके विचार बच जाते हैं।”~ भगत सिंह

 

“जरूरी नहीं था कि क्रांति में अभिशप्त संघर्ष शामिल हो।
यह बम और पिस्तौल का पंथ नहीं था।“ ~ भगत सिंह

 

Bhagat Singh Quotes in Hindi

 

बड़े बड़े साम्राज्य तहस नहस हो जाते हैं,
पर विचारों को कोई ध्वस्त नहीं कर सकता.

 

अगर आपको मेरे (भगत सिंह के अनमोल वचन) प्रेरित करते हैं
तो बदलाव लाने की हिम्मत करते समय बिलकुल मत सोचिये.

 

जिन्दा रहने की हसरत मेरी भी है,
पर मै कैद रहकर अपना जीवन नहीं बिताना चाहता.

 

मरकर भी मेरे दिल से वतन की उल्फत नहीं निकलेगी,
मेरी मिट्टी से भी वतन की ही खुशबू आएगी.

 

मेरे जीवन का केवल एक ही लक्ष्य है और वो है देश की आज़ादी.
इसके अलावा कोई और लक्ष्य मुझे लुभा नहीं सकता.

 

मेरे सीने पर जो जख्म हैं, वो सब फूलों के गुच्छे हैं,
हमको पागल रहने दो, हम पागल ही अच्छे हैं.

 

किसी व्यक्ति की हत्या करना आसान है,
पर उसके विचारों की हत्या करना नामुमकिन है.

 

आज जो मै आगाज लिख रहा हूँ, उसका अंजाम कल आएगा.
मेरे खून का एक एक कतरा कभी तो इन्कलाब लाएगा.

 

यदि बहरों को कुछ सुनाना है
तो हमें अपनी आवाज़ को धमाकेदार बनाना होगा.

 

क्रान्ति लाना हमारे बस की नहीं,
क्रान्ति तो विशेष परिस्थतियों में अपने आप ही आती है.

 

अगर अपने दुश्मन से बहस करनी है और उससे जीतना है
तो इसके लिए अभ्यास करना जरूरी है.

 

मुसीबतें इंसान को पूर्ण बनाने का काम करती हैं,
हर स्थिति में धैर्य बनाकर रखें.

 

मै एक इंसान हूँ और मानवता को प्रभावित करने वाली हर चीज़ से मतलब रखता हूँ.

 

कोई भी व्यक्ति कोई ख़ास कार्य तभी करता है
जब वो उसके औचित्य को सुनिश्चित कर लेता है.
जिस तरह से हमने विधान सभा में बम फेंका था,
वो भी एक ऐसा ही कार्य था.

 

क्रांतिकारी सोच के दो सबसे जरूरी लक्षण होते हैं भीषण निंदा और आज़ाद सोच.

 

कानून में विश्वास और उसकी पवित्रता तब तक ही बनी रह सकती है
जब तक वो लोगों को सही न्याय दिलाता रहे और उनकी इच्छाओं की अभिव्यक्ति करे.

 

सच कहूं तो खुद को बचाने के बारे में मैंने कभी सोचा ही नहीं,
मेरे दिमाग में हमेशा एक ही चीज़ रहती है और वो है इन्कलाब.

 

मेरा रंग दे बसंती चोला ओ माय रंग दे बसंती चोला.
इस भगत सिंह के नारे (Slogan) ने पूरे देश को एकता के रंग में रंग दिया था.

 

कोई विद्रोह क्रांति नहीं होता, आखिर में आपका अंत हो सकता है.

 

मुझे उस (जिसे लोग सर्वशक्तिमान भगवान् कहते हैं) में बिलकुल भी विश्वास नहीं है.

 

क्रांति केवल हिंसा और तोड़ फोड़ नहीं होती.

 

Bhagat Singh Quotes and Shayari

 

मेरी कलम मेरे जज्बातों को इस कदर समझती है
की मै “इश्क” लिखने की कोशिश करूँ तो भी इन्कलाब ही लिखा जाता है.

 

पागल, प्रेमी और कवि,
ये तीनो एक ही मिट्टी या सामग्री के बने होते हैं.

 

राख का कण कण मेरे शरीर की गर्मी में मौजूद है.
मै एक ऐसा पागल हूँ जो सलाखों के पीछे भी आज़ाद है.

 

क्रान्ति के लिए हथियारों की जरुरत नहीं होती,
क्रान्ति की तलवारें तो विचारों की धार पर तेज की जाती हैं.
अगर आपको भगत सिंह के अनमोल विचार प्रेरित करते हैं
तो अत्याचार के खिलाफ लड़िये, क्रांतिकारी बनिए.

 

बुराई बढ़ने का कारण बढ़ते हुए बुरे लोग नहीं हैं,
बल्कि इसके लिए वो लोग जिम्मेदार हैं
जो चुपचाप बुराई को सहन करते जा रहे हैं.

 

स्वतंत्रता हर व्यक्ति का जन्मसिद्ध अधिकार है और
अगर कोई इसके बीच रोड़ा बने तो आदमी को क्रांतिकारी बनने का भी अधिकार है.

 

मै खुद भी जीना चाहता हूँ और मेरी भी इच्छाएं हैं,
पर देश के लिए इन सब का त्याग करने को हमेशा तैयार हूँ.

 

लोग जैसा चल रहा है उसे ही अपनाने को तैयार हैं.
बदलाव लाने की सोच मात्र से ही उनके हाथ पैर कांपने लगते हैं.
हमें अपनी इसी भावना को बदलना है और क्रांतिकारी बनना है.

 

मेरी गर्मी के कारण राख का एक एक कण चलायमान हैं
में ऐसा पागल हूँ जो जेल में भी स्वतंत्र हूँ।

 

क्रांति में सदैव संघर्ष हो यह जरुरी नहीं|
यह बम और पिस्तौल की राह नहीं है।

 

जो व्यक्ति उन्नति के लिए राह में खड़ा होता है
उसे परम्परागत चलन की आलोचना एवम विरोध करना होगा साथ ही उसे चुनौती देनी होगी।

 

मैं यह मानता हूँ की मह्त्वकांक्षी,
आशावादी एवम जीवन के प्रति उत्साही हूँ
लेकिन आवश्यकता अनुसार मैं इस सबका परित्याग कर सकता हूँ
सही सच्चा त्याग होगा।

 

Shahid Bhagat Singh Quotes 2021

 

यदि बहरों को सुनना है तो आवाज तेज करनी होगी .
जब हमने बम फेका था तब हमारा इरादा किसी को जान से मारने नहीं था.
हमने ब्रिटिश सरकार पर बम फेका था.
ब्रिटिश सरकार को भारत छोड़ना होगा और उसे स्वतंत्र करना होगा।

 

किसी को “क्रांति” को परिभाषित नहीं करना चाहिए|
इस शब्द के कई अर्थ एवं मतलब है की जो की
इसका उपयोग अथवा दुरपयोग करने वाले तय करते है।

 

सामान्यत: लोग परिस्थिति के आदि हो जाते है
और उनमें बदलाव करने की सोच मात्र से डर जाते है|
अत: हमें इस भावना को क्रांति की भावना से बदलने की जरूरत है।

 

क्रांति मनुष्य का जन्म सिद्ध आधिकार है
साथ ही आजादी भी जन्म सिद्ध अधिकार है
और परिश्रम समाज का वास्तव में वहन करता है।

 

अहिंसा को आत्म विश्वास का बल प्राप्त है
जिसमे जीत की आशा से कष्ट वहन किया जाता है।
लेकिन अगर यह प्रयत्न विफल हो जाए तब क्या होगा?
तब हमें इस आत्म शक्ति को शारीरिक शक्ति से जोड़ना होता है
ताकि हम अत्याचारी दुश्मन की दया पर न रहे।

 

व्यक्तियों को कुचल कर, वे विचारों को नही मार सकते।

 

कानून की पवित्रता तभी बनी रह सकती है
जब तक की वो लोगों की इच्छा की अभिव्यक्ति करें।

 

अगर हमें सरकार बनाने का मौका मिलेगा
तो किसी के पास प्राइवेट प्रॉपर्टी नहीं मिलेगी।

 

क्या तुम्हें पता है कि दूनिया में सबसे बड़ा पाप गरीब होना है?
गरीबी एक अभिशाप है यह एक सजा है.”

 

राख का हर कण मेरी गर्मी से गतिमान है,
मैं एक ऐसा पागल हूँ जो जेल में भी आजाद है।”

 

प्रेमी पागल और कवी एक ही चीज से बनते है।

 

जो भी विकास के लिए खड़ा है उसे हर रूढ़िवादी चीज कि आलोचना करनी होगी
उसमें अविश्वास करना होगा और उसे चुनौती देनी होगी.”

 

जरूरी नहीं था कि क्रांति में अभिशप्त संघर्ष शामिल हो यह बम और पिस्तौल का पंथ नहीं था”

 

अगर बहरों को सुनना है तो आवाज को बहुत जोरदार होना होगा,
जब हमने असेम्बली में बम गिराया तो हमारा मकसद किसी को मारना नहीं था
हमने अंग्रेजी हुकूमत पर बम गिराया था।

 

Bhagat Singh Quotes status

 

चीजें जैसी है आम तौर पर लोग उसके आदि हो जाते है
और बदलाव के विचार से ही कांपने लगते है
हमें इसी निष्क्रियता को क्रांतिकारी भावना से बदलने कि जरुरत है।”

 

बम और पिस्तौल से क्रांति नहीं आती,
क्रांति की तलवार विचारों की सान पर तेज होती है।”

 

अहिंसा को आत्मबल के सिधांत का समर्थन है
जिसमें प्रतिद्वंदी पर जीत कि आशा में कष्ट सहा जाता है,
लेकिन तब क्या हो, जब ये कोशिश नाकाम हो जाए?
तभी हमें आत्मबल को शारीरिक बल से जोड़ने कि
जरुरत पड़ती है ताकि हम अत्याचारी और
क्रूर दुश्मन के रहमोकरम पर निर्भर न रहे.”

 

कानून कि पवित्रता तभी तक बनी रह सकती है
जब तक वो लोगों कि इच्छा कि अभिव्यक्ति करे.”

 

इन्सान तभी कुछ करता है जब वो अपने काम के औचित्य को लेकर सुनिश्चित होता है,
जैसा कि हम विधानसभा में बम फैंकने को लेकर थे.”

 

व्यक्तियों को कुचलकर, वे विचारों को नहीं मार सकते.”

 

निष्ठुर आलोचना और स्वतंत्र विचार ये क्रांतिकारी सोच के दो अहम लक्षण है.”

 

अगर धर्म को अलग कर दिया जाए तो राजनीति पर हम सब इकठ्ठे हो सकते है.
धर्मों में हम चाहे अलग अलग ही रहें.

 

LATEST IMAGES और SHAYARI पाने के लिए हमारे FACEBOOK PAGE को LIKE करे. अगर आपको Bhagat Singh Quotes || Bhagat Singh Quotes 2021 || Bhagat Singh Quotes status || shahid Bhagat Singh Quotes || Bhagat Singh Quotes in hindi || Bhagat Singh Quotes hindi 2021 पसंद आये तो इसे अपनी प्रियजनों को शेयर करे. और हमें COMMENT BOX में COMMENT करके.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close